23.9 C
India
Wed | 01 May 2019 | 8:46 AM
AAP चुनाव 2019 दिल्ली/NCR राजनीती राष्ट्रीय

हरियाणा में हुआ आम आदमी पार्टी (आप) और जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) का गठबंधन

आम आदमी पार्टी (आप) और जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) हरियाणा में साथ मिलकर चुनाव लड़ेंगे। लोकसभा चुनाव में दोनों पार्टियां हरियाणा की सभी 10 सीटों पर मिलकर चुनाव लड़ेंगी। इस बारे में दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने अपने ट्वीट में लिखा, “हरियाणा के लोग यह चाहते थे। हरियाणा के लोगों को शुभकामनाएं। हम साथ मिलकर भारतीय जनता पार्टी को हराएंगे और हरियाणा के विकास के लिए काम करेंगे।“

हरियाणा में 7 सीटों पर जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) और 3 सीटों पर आम आदमी पार्टी (आप) चुनाव लड़ेगी।
दिल्ली के कान्स्टीट्यूशन क्लब में आयोजित एक संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में दोनों पार्टियों के बीच गठबंधन की घोषणा की गई। इस प्रेस कांफ्रेंस में दिल्ली सरकार में कैबिनेट मंत्री और हरियाणा के प्रभारी गोपाल राय, आम आदमी पार्टी हरियाणा के संयोजक नवीन जयहिंद, राज्यसभा सांसद सुशील गुप्ता और जननायक जनता पार्टी के संस्थापक और लोकसभा सांसद दुष्यंत चौटाला, जननायक जनता पार्टी के हरियाणा के प्रदेश अध्यक्ष सरदार निशान सिंह और जननायक जनता पार्टी हरियाणा प्रदेश के प्रधान महासचिव के सी बांगड़ मौजूद रहे।

प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए गोपाल राय ने कहा,”आम आदमी पार्टी पिछले एक साल से हरियाणा में बदलाव के लिए स्कूहल-अस्प,ताल रैली के माध्यपम से अपने अभियान को मजबूती से चला रही थी। उसी पूरे अभियान के दौरान हरियाणा के अंदर जेजेपी का जन्मल हुआ जिसने दिल्लीअ की तरह हरियाणा में भी बदलाव के लक्ष्यर को सामने रखकर खासतौर से हरियाणा के युवाओं का आह्वान किया कि अगर दिल्लीक बदल सकती है तो हरियाणा भी बदल सकता है। उसी को ध्यावन में रखते हुए हरियाणा के अंदर लोकसभा और विधानसभा चुनाव से पहले जींद का उप-चुनाव घोषित हुआ। जींद के उप- चुनाव में जेजेपी ने अपना उम्मीजदवार घोषित किया। आम आदमी पार्टी ने यह निर्णय लिया कि आम आदमी पार्टी ये चुनाव नहीं लड़ेगी और जेजेपी को सहयोग करेगी।”

गोपाल राय ने कहा, “उस चुनाव में और हमने देखा कि आत्मकमुग्धीता की शिकार कांग्रेस पार्टी ने अपने एक शीर्ष नेता को जींद के चुनाव में उतारा लेकिन हरियाणा के अंदर युवाओं के दिलों में कुछ और भड़क रहा है और हरियाणा के युवाओं ने जींद के अंदर इस बात को सरेआम अपनी तरफ से घोषित किया कि हरियाणा का युवा बदलाव चाहता है। हरियाणा भी देश के साथ कदम से कदम मिला कर के नये लक्ष्य  को पाना चाहता है और वहां पर मजबूती के साथ भारतीय जनता पार्टी का मुकाबला किया। वह तात्काललिक सहयोग था। उसको ध्याैन में रखते हुए आम आदमी पार्टी और जेजेपी ने लोकसभा चुनाव के अंदर मिल कर के हरियाणा के अंदर एक विकल्पं देने का निर्णय लिया है। हरियाणा के अंदर कांग्रेस आज खंड- खंड विखंडित है और ऐसे में आम आदमी पार्टी और जेजेपी का गठबंधन सारी सीटें जीत रही है। मैं जिम्मेेदारी के साथ कहना चाहता हूं कि हरियाणा का युवा उस बदलाव के मुहाने पर इस गठबंधन की मशाल को लेकर आगे बढ़ेगा और इसे पूर्ण करेगा। हमने जो निर्णय लिया है कि लोकसभा चुनाव में जेजेपी सात सीटों पर अपना उम्मीूदवार घोषित करेगी और तीन सीटों पर आम आदमी पार्टी अपना उम्मीमदवार घोषित करेगी। ”

गोपाल राय ने ये भी कहा, “ऐसे में हमें भरोसा है कि ये गठबंधन हरियाणा के अंदर सबसे मजबूत और भविष्य  का विकल्पम बन कर एक उम्मीकद बन कर खड़ा होगा और इस चुनाव के अंदर एक नये बदलाव की तरफ बढ़ेगा। ”
इस मौके पर दुष्यंत चौटाला ने कहा, “हरियाणा के अंदर आम आदमी पार्टी और जननायक जनता पार्टी मिलकर परिवर्तन लाने का काम करेगी। हम नवरात्र में ये खुशखबरी लेकर आए हैं। दोनों पार्टियां जींद में साथ मिलकर आगे बढ़ी थीं। भाजपा और कांग्रेस लोकतंत्र में कमजोर लाने का काम कर रही हैं। इनके विरुद्ध दोनों पार्टियां आगामी चुनाव में भी एक होकर काम करेंगी।“

दुष्यंत चौटाला ने कहा, “जैसे अरविंद जी ने दिल्ली में शिक्षा, चिकित्सा और बदलाव की लड़ाई लड़ते हुए कई मुद्दों पर काम किया है वैसे ही  हरियाणा में दोनों पार्टियां एक और एक ग्यारह बनकर हरियाणा में भी बदलाव लाने का काम करेंगी।“

प्रेस वार्ता में नवीन जयहिन्द ने कहा, “ये गठबंधन बीजेपी का खूंटा उखाड़ेगा। बीजेपी ने पिछले पांच साल के दौरान दंगे करवाये। कम से कम सौ लोगों को कम से कम गोलियों से मारा। बीजेपी का खूंटा उखाड़ना कांग्रेस के बस की बात नहीं है।

जयहिन्द ने आरोप लगाया कि बीजेपी के राज में जो जातिवाद हुआ है। जातिवाद की वजह से पूरे हरियाणे का भाईचारा खत्मि किया है बीजेपी ने। आम आदमी पार्टी और जेजेपी मिलकर मतलब झाडू और चप्प ल मिलकर बीजेपी का खूंटा उखाड़ेंगे। दस साल कांग्रेस को देख कर, दस साल में कांग्रेस से दुखी हो कर लोगों ने बीजेपी को मौका दिया था लेकिन बीजेपी वालों ने हरियाणा का सत्याकनाश कर दिया इसलिए हरियाणा से बीजेपी को भगाने के लिए ये जो नया गठबंधन है। ये एक राजनीतिक विकल्पस है जो मुद्दों की लड़ाई लड़ेगा ना कि जाति धर्म और क्षेत्र की लड़ाई लड़ेगा।

Related posts

गोवा के मुख्यमंत्री एवं पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर का निधन

Vidya Shodh Patrika

दलित मतदाताओं के लिए कांग्रेस का देशव्यापी अभियान

Rishabh Jain

प्रयागराज कुंभ मेला 2019 गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल

Vidya Shodh Patrika

Leave a Comment