23.9 C
India
Wed | 01 May 2019 | 8:59 AM
राष्ट्रीय

भारत में यात्रा के लिए परिवार के साथ ट्रैवल करने के लिए ऑफ-बीट स्थान

शहर की हलचल से थक गए हैं? अपने परिवार के साथ किसी अद्भुत जगह भागने की इच्छा जाग रही है और फिर भी डेस्टिनेशन तय नहीं कर पा रहे? कन्फर्मटिकट ट्रेन डिस्कवरी और बुकिंग एप तथा क्लीयरट्रिप इंडिया के लीडिंग ऑनलाइन ट्रैवल एंड लेजर प्लेटफॉर्म से कुछ ऑफ-बीट एडवेंचर डेस्टिनेशन खोज सकते हैं जो न केवल एक सुकून देने वाले रोमांच प्रदान करते हैं बल्कि वहां कहीं टॉम, डिक या हैरी आपका पीछा नहीं करेगा।

दारिंगबाड़ी
झरने, देवदार के जंगल, सुस्त गांव, धुंध भरी सुबह और औसत रात में 12 डिग्री तापमान। यह सब कल्पना करें। अब कल्पना करें कि सोकर उठें तो सुबह आपको पहाड़ों की चोटियां और बर्फ में दबे चीड़ के पेड़ नजर आएंगे। पहला विचार कश्मीर का ही आता है लेकिन जब रात के औसत तापमान की बात आती है, तो ख्याल बदल जाता है। अच्छी खबर यह है कि यह अनुभव हासिल करने के लिए आपको कश्मीर तक की यात्रा नहीं करनी पड़ेगी। दारिंगबाड़ी, उड़ीसा का एक छोटा-सा हिल स्टेशन है जो आपको यह अनुभव देता है और इसके लिए आपको कश्मीर जाने की जरूरत भी नहीं है!! आप अपने परिवार के साथ यहां जाएं और लाइफटाइम एक्सपीरियंस लें।

गोकर्ण
यदि आपको समुद्र तट पसंद आते हैं तो गोकर्ण के लिए आपको तत्काल टिकट बुक करना चाहिए। शहरों के पागलपन से दूर स्थित, यह कर्नाटक का तटीय मंदिर इलाका आनंद और सुंदरता से भरा हुआ है, जो गोवा को तरसा सकता है। आप उथले समुद्र तटों की कल्पना कर सकते हैं, जहां आप पूरे दिन सिर्फ सूरज की ओर देखते रह सकते हैं। कभी भी तैरकर आओ! एक कार बुक करें और परिवार के साथ समुद्र तट पर छुट्टी बिताने निकल जाएं।

खज्जियार
इस स्थान की मंत्रमुग्ध कर देने वाली सुंदरता ने राजपूतों और मुगलों सहित कई शासकों को बरसों तक प्रेरित और प्रभावित किया है। 6,500 फीट की ऊंचाई पर स्थित इस जगह की प्राकृतिक सुंदरता और सुरम्य नजारे एक पर्यटक पर हमेशा के लिए छाप छोड़ने को तैयार रहते हैं। अक्सर ‘मिनी-स्विटजरलैंड ऑफ इंडिया’ के रूप में संदर्भित खज्जियार डलहौजी के पास एक छोटा-सा शहर है जो पर्यटकों को जंगलों, झीलों और चारागाहों का अनूठा कॉम्बिनेशन प्रदान करता है।

लद्दाख
यदि आप एक ऐसे परिवार का हिस्सा हैं जिसे चुनौतीपूर्ण स्थानों पर ट्रैकिंग से बाहर कर दिया गाय है तो लद्दाख ही आपका जम्मू-कश्मीर है। जम्मू और कश्मीर का सबसे बड़ा प्रांत है लद्दाख, जो बाइक यात्रा के लिए विश्व प्रसिद्ध है। आम तौर पर परिवारों को यहां छुट्टियां बिताना पसंद नहीं आता। लेकिन यदि आप रोमांचक अनुभव चाहते हैं और अपने बच्चों को युवा होने पर लद्दाख जैसा कोई किस्सा सुनाने की इच्छा रखते हैं या अपने नाती-पोतों को लद्दाख की कहानी सुनाना चाहते हैं तो यह एक अविस्मरणीय यात्रा होगी।!

शिलॉन्ग
भारत का स्कॉटलैंड माने जाने वाला शिलॉन्ग मेघालय की राजधानी है। इसका सही अर्थ है, “बादलों का निवास”। हरे-भरे घास के मैदान और कभी न खत्म होने वाले हरे मैदान आपको यह महसूस कराएंगे कि आप किसी ऐसे वैकल्पिक ब्रह्मांड में हैं, जहां शोर या हवा प्रदूषण का कोई मुद्दा ही नहीं है। जहां लोग घंटों बैठकर ताजी हवा में सांस ले सकते हैं और फिर भी थकते नहीं हैं। कई झरनों वाले इस प्रदेश में देश के सबसे साफ-सुथरे जल निकायों में से कुछ हैं, जहां यात्रा की जा सकती है। अपने परिवार को ले जाएं और बादलों और झरने के साथ अफेयर शुरू करो।

Related posts

48 व्यक्तियों को जीवन रक्षा पदक पुरस्कार – 2018

Vidya Shodh Patrika

प्रयागराज कुंभ मेला 2019 गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल

Vidya Shodh Patrika

बालाकोट में जैश-ए-मेाहम्‍मद के प्रशिक्षण शिविरों पर हमले के बारे में विदेश सचिव का वक्‍तव्‍य

Vidya Shodh Patrika

Leave a Comment