21.5 C
India
Fri | 03 May 2019 | 3:41 AM
AAP चुनाव 2019 भारतीय जनता पार्टी राजनीती

आप मुख्य प्रवक्ता सौरव भारद्वाज ने केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी को खुली बहस की चुनौती दी।

नई दिल्ली, 20 मार्च 2019, बुधवार को आम आदमी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने एक बयान जारी करते हुए केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी से आम आदमी पार्टी की चिंता न करने और दिल्ली की जनता को भाजपा की दिल्ली विरोधी नीतियों के बारे में बताने की चुनौती दी।

उन्होंने कहा कि अगले 7 दिनों तक हम दिल्ली की जनता के बीच भाजपा के असली चेहरे को बेनकाब करने का काम करेंगे। और दिल्ली की जनता को केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी की दिल्ली विरोधी नीतियों के बारे में बताने का काम करेंगे।

उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी जी द्वारा 18 महीने पहले, केंद्र में मंत्री पद पर आसीन किए गए राज्यसभा सांसद श्री हरदीप सिंह पुरी जी द्वारा नए राजनीतिक ज्ञान का उदय किया गया है। हरदीप पुरी जी जिनके पास केंद्रीय मंत्री के तौर पर, देश हित में किया गया अपना काम दिखाने के नाम पर शून्य है, वह अब चुनावी राजनीतिक विश्लेषण के तौर पर अपनी किस्मत आजमाने निकले हैं।

यह समझ से बिल्कुल ही परे है कि श्री हरदीप पुरी जी दिल्ली की राजनीतिक स्थिति पर अपनी विशेषज्ञ टिप्पणी किस क्षमता के आधार पर दे रहे हैं। भाजपा को छोड़कर हरदीप पुरी जी आम आदमी पार्टी के बारे में इतना चिंतित क्यों है?

सौरभ भारद्वाज ने कहा कि हरदीप पुरी जी को आम आदमी पार्टी की चिंता करने की जरूरत नहीं है आम आदमी पार्टी का जन्म लोकपाल आंदोलन से हुआ था, जिसे हरदीप पुरी जी की पार्टी ने 2014 के लोकसभा चुनाव में अपने घोषणापत्र में लागू करने का वादा किया था, परंतु 5 साल तक दिल्ली और देश की जनता को बेवकूफ बनाने का काम किया। अंततः देश के सर्वोच्च न्यायालय को कड़ा कदम उठाना पड़ा और सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद मजबूरन भाजपा सरकार को लोकपाल की नियुक्ति करनी पड़ी।

जब जनलोकपाल आंदोलन शुरू हुआ तो पूरे देश की जनता सड़कों पर अपना घर बार, कारोबार सब छोड़ कर उतर आई थी। क्योंकि उस समय हरदीप पुरी जी राजनीति में नहीं थे, तो शायद हरदीप पुरी जी को यह नहीं पता की आम आदमी पार्टी ने कांग्रेस की अगुवाई वाली यूपीए सरकार के कार्यकाल में भ्रष्टाचार के खिलाफ अपनी यात्रा शुरू की थी, और अब श्री पुरी जी की पार्टी के सत्तावादी और तानाशाही शासन से लड़ रही है।

आम आदमी पार्टी जन आंदोलन से निकली हुई पार्टी है, और आम आदमी पार्टी के लिए देश की जनता और उसके हित सर्वोपरि हैं। देश की जनता के अधिकारों के लिए और जनविरोधी नीतियों के खिलाफ आम आदमी पार्टी किसी भी पार्टी से लड़ने को तैयार है, चाहे वह कांग्रेस हो या भाजपा।

 

सौरभ भारद्वाज ने केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी से कुछ प्रश्न पूछे जो निम्न प्रकार से हैं….

 

1- हरदीप पुरी जी बताएं कि दिल्ली मेट्रो बोर्ड में केंद्र सरकार के नुमाइंदों ने अनुचित मेट्रो किराया बढ़ाने का समर्थन क्यों किया?

 

2-  दिल्ली मेट्रो किराया बढ़ाने को लेकर केंद्र सरकार की ओर से मेट्रो मंत्रालय के प्रतिनिधियों को आप ने क्या निर्देश दिए थे?

 

3- नरेंद्र मोदी सरकार ने दिल्ली मेट्रो फेज 4 के तीन मार्गो को, जो दिल्ली सरकार ने मंजूरी दी थी उसे क्यों रोक दिया?

 

4- आप और आपका मंत्रालय मेट्रो फेज फोर के तीन मार्गो को मंजूरी नहीं देने के कारणों को जनता के बीच सार्वजनिक करने से क्यों डरते हैं?

 

5- भारतीय चुनाव आयोग के आदर्श आचार संहिता लागू होने से 1 दिन पहले डीडीयू मार्ग पर भाजपा को 2 एकड़ जमीन उपलब्ध कराने का क्या औचित्य है?

 

सौरभ भारद्वाज ने कहा कि आम आदमी पार्टी श्री हरदीप पुरी जी से दिल्ली से जुड़े किसी भी मुद्दे पर बहस करने को तैयार है, परंतु उनको इस बहस का जनादेश उनकी पार्टी की ओर से मिले। क्योंकि भाजपा में किसी भी नेता या मंत्री को अपनी मर्जी से कुछ भी बोलने की अनुमति नहीं है।

श्री हरदीप सिंह पुरी जी जिन्होंने कई देशों में अपनी सेवा दी है, वह बेहतरी से जानते होंगे कि सत्तावादी और तानाशाही शासन लंबे समय तक नहीं चलता। क्योंकि भारत एक मजबूत लोकतंत्र वाला देश है, जहां संविधान और संघवाद को केंद्र सरकार ने नष्ट करके रख दिया है। अब देश की जनता इस तानाशाह सरकार को और बर्दाश्त नहीं करेगी।

आम आदमी पार्टी को हरदीप पुरी जी से बिल्कुल भी उम्मीद नहीं है कि वह देश की जनता को बताएंगे, कि किस प्रकार से मोदी सरकार ने देश के सभी संस्थानों को नष्ट किया, राजनीतिक प्रतिद्वंद्वीयों को झूठे मामलों में फसाया, केंद्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग किया, गैर भाजपा राज्य सरकारों को कार्य करने की अनुमति नहीं दी। पूरे देश की जनता भाजपा की सरकार से त्रस्त है, और आगामी लोकसभा चुनाव में जनता इसका मुंहतोड़ जवाब देगी।

Related posts

दलित मतदाताओं के लिए कांग्रेस का देशव्यापी अभियान

Rishabh Jain

देश में लोकसभा चुनाव-2019 के पहले चरण में 11 अप्रैल, 2019 को मतदान होगा

Vidya Shodh Patrika

182 मीटर ऊंचे ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’

Vidya Shodh Patrika

Leave a Comment